Posts

Showing posts from 2012

नानी माँ की बातें

Image
नानी माँ की बातें


पने ब्लॉग 'स्वप्निल सौंदर्य ' में जुड़ने जा रहे एक नए अध्याय ' नानी माँ की बातें ' में मैं, आप सभी का स्वागत करती हूँ . इसके अंतर्गत हमारे जीवन की दिन -प्रतिदिन की छुट-पुट स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के बेहद सरल व सहज  घरेलु उपचारों की चर्चा होगी . साथ ही साथ सौंदर्य निखार हेतु घरेलु नुस्खों की भी विवेचना की जाएगी. आशा करती हूँ कि मेरे अन्य चिट्ठों की ही तरह ' नानी माँ की बातें '  श्रृंखला के लिये भी मुझे  आप सभी पाठको का प्रेम व प्रोत्साहन प्राप्त होता रहेगा.



दाँत का दर्द :

अमरुद के पत्तों के काढ़े से कुल्ला करने से दाँत और दाढ़ की भयानक टीस व दर्द दूर हो जाता है.


कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिये :

लहसुन का एक नग छीलकर , टुकड़े कर खाली पेट नित्य प्रात: थोड़े पानी के साथ चबाकर खायें, रोगी का रक्त में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल घट कर बहुत जल्दी सामान्य स्तर पर आ जाता है.


मसूढ़ों से खून आने पर :

मेथीदाना उबाल कर पानी के कुल्ले करने से मसूढ़ों से खून आना बंद हो जाता है.


पेट में एसिडिटी च गैस की समस्या :

एक लौंग और एक इलायची प्रत्येक भोजन व नाश्ते के बाद ले लेने …

Home decor collection

Image
Home decor collection

Through this post ..I am going to throw light on ' home decor items ' of your signature style ..... I am sharing few pics of my collection of home decor range designed for my personal use which includes few handicrafts, candles, paintings, crochet , soft toys, matty work etc.  Before we go ahead, first lets understand the meaning of few terms : 
Decor : the style of furniture, wallpaper, carpeting, curtains, and accessories chosen for a room or house 

Handicraft : object made by hand: something made using manual skill 

Crochet :  form of needlework used to make clothes or decorative items from wool or thick stiff thread, by looping it through itself with a special hooked needle crochet hook 


Home decor collection designed by Swapnil Shukla
{ for personal use } .


















मेहंदी स्पेशल { Mehendi Special }

Image
वो हाथों का श्रंगार , वो सौंधी सी खुशबू ,
वो सहेलियों की खिलखिलाहट ,
वो उत्साह, हर्ष, उमंग व रोमांच ,
हर याद है तुम्हारी मेरे दिल के पास,
तुम हो मेहंदी, जो है हर स्त्री के लिये खास.....

















                            - स्वप्निल  शुक्ल 


copyright©2012.Swapnil Shukla.All rights reserved
No part of this publication may be reproduced , stored in a  retrieval system or transmitted , in any form or by any means, electronic, mechanical, photocopying, recording or otherwise, without the prior permission of the copyright owner.